सो जा ऐ दिल

सो जा ऐ दिल कि अब धुन्ध बहुत है तेरे शहर में,
अपने दिखते नहीं और जो दिखते है वो अपने नहीं…।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *